01 December 2023

रीवा के eco park में पूरा दिन घूमने के लिए इतने रुपये देने होते हैं. यह पार्क बीहर नदी के टापू पर 5.20 हेक्टेयर ज़मीन पर बना है - mama news

रीवा के ईको पार्क में पूरा दिन घूमने के लिए 100 रुपये देने होते हैं. यह पार्क बीहर नदी के टापू पर 5.20 हेक्टेयर ज़मीन पर बना है. इस पार्क में स्काई साइक्लिंग, रोप कोर्स, रॉक क्लाइम्बिंग जैसी सुविधाएं हैं. 
इस पार्क का लोकार्पण 24 सितंबर, 2023 को हुआ था. इस पार्क को बनाने में 15 करोड़ रुपये की लागत आई थी. 

Rewa Eco Park: विंध्यवासियों को मिली इको पार्क की सौगात, बीहर नदी के टापू पर मिलेगा रोमांच का आनंद |

Rewa Eco Park: रीवा शहर में 15 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुए इको पार्क का लोकार्पण 24 सितंबर को वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ हुआ। लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान ही इको पार्क को देखने भीड़ उमड़ पड़ी। इसके आलावा कार्यक्रम में चार चांद लगाने के लिए इंडियन आइडल में अपनी जादुई आवाज का परचम लहराने वाले अंतर्राष्ट्रीय तीन कलाकारों ऋषि सिंह, हर्षी मड और सायली कांबले ने प्रस्तुति दी।

रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ 24 सितंबर को ईको पार्क का लोकार्पण मुख्य अतिथि विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने फीता काटकर किया। इसी के साथ रीवा को पर्यटन के क्षेत्र में एक और नई सौगात मिली है।सैर-सपाटे की गतिविधियों के साथ ईको पार्क में आधुनिक एडवेंचर की गतिविधियां पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करेंगी।

विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने कहा कि रीवा के लिए आज का दिन ऐतिहासिक दिन है। हरित, उद्योग के साथ-साथ पर्यटकों के क्षेत्र में रीवा समृद्धशाली हो रहा है।

पहले के रीवा और आज के रीवा में बड़ा परिवर्तन है। रीवा को उंचाइयों तक पहुंचाने में मंत्री शुक्ल का सद् प्रयास है। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि रीवा में पर्यटन गतिविधियों के ब्रांडिंग की जरूरत है जिससे पर्यटक अधिक से अधिक संख्या में विभिन्न पर्यटन स्थलों को देखने आएं। कहा कि ईको पार्क शहर के लोगों को सुकून के पल बिताने का एक सुनहरा स्थान होगा।

जनसंपर्क मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि विंध्यवासियों के पूर्व मंत्री महेन्द्र कुमार मानव के मन में कभी बीहर नदी के बीच में बने टापू को विकसित करने की परिकल्पना आयी थी। यह बात रीवा के समाजसेवी रामसागर शास्त्री ने उनको बताई थी। जब मैं पहली बार विधायक बना था तब से ही मेरे मन में यह परिकल्पना थी कि बीहर नदी के तट व इसके बीच के टापुओं को पर्यटन के लिए विकसित किया जाए। इस काम को उन्होंने प्राथमिकता से लिया और इको पार्क का निर्माण निजी पूंजी निवेश से किया गया। पर्यटन की गतिविधियों को ईको पार्क से नई गति मिलेगी और रोजगार के अवसरों का भी सृजन होगा।

यह 5.2 एकड़ के क्षेत्र में निर्मित में मध्य प्रदेश का पहला ईको पार्क है जिसमें देश के साथ-साथ अन्तर्राष्ट्रीय पर्यटकों को ध्यान रखकर सुविधाएं विकसित की गई हैं। यह रीवा को अन्तर्राष्ट्रीय मानचित्र में भी पहचान दिलाएगा। ईको पार्क में जिप लाइन, रॉक क्लाइम्बिंग, कमांडो क्रॉसिंग, बर्मा ब्रिज, रोप कोर्स, स्काई साइकिलिंग,अत्याधुनिक झूले के साथ पर्यटकों के लिए कैफे, मल्टी क्यूजिन रेस्टोरेंट हैं। साथ ही विंध्य और मध्यप्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों के व्यंजनों का लुत्फ भी पर्यटक उठा सकेंगे।

Readmore 

Today's Latest Posts by: e4you-portal