14 August 2023

देश के प्रधानमंत्री पद पर पढ़ा लिखा व्यक्ति होना जरूरी है कि नहीं?

भारत के संविधान में प्रधानमंत्री पद के लिए किसी भी शैक्षणिक योग्यता की आवश्यकता नहीं है. हालांकि, अधिकांश भारतीय प्रधानमंत्री शिक्षित हैं और उनके पास स्नातक या स्नातकोत्तर की डिग्री है. भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्होंने गुजरात विश्वविद्यालय से  स्नातक की डिग्री प्राप्त की है.

कुछ लोग मानते हैं कि प्रधानमंत्री पद के लिए पढ़ा लिखा होना जरूरी है क्योंकि यह पद देश के सबसे महत्वपूर्ण पदों में से एक है और प्रधानमंत्री को देश के सभी मामलों से संबंधित निर्णय लेने होते हैं. वे तर्क देते हैं कि एक शिक्षित व्यक्ति बेहतर निर्णय लेने में सक्षम होगा और वह देश के लोगों के लिए बेहतर काम कर पाएगा.

हालांकि, कुछ अन्य लोग मानते हैं कि प्रधानमंत्री पद के लिए पढ़ा लिखा होना जरूरी नहीं है क्योंकि यह पद एक नेतृत्व पद है और प्रधानमंत्री को लोगों को प्रेरित करने और उन्हें साथ लेकर चलने में सक्षम होना चाहिए. वे तर्क देते हैं कि एक शिक्षित व्यक्ति जरूरी नहीं कि एक अच्छा नेता हो और एक अशिक्षित व्यक्ति भी एक अच्छा नेता हो सकता है.

अंततः, यह निर्णय कि प्रधानमंत्री पद के लिए पढ़ा लिखा होना जरूरी है या नहीं, एक व्यक्तिगत निर्णय है. कोई सही या गलत उत्तर नहीं है और यह हर व्यक्ति पर निर्भर है कि वह क्या मानता है.

Today's Latest Posts by: e4you-portal